Local Heading

अलीगढ़: कोरोना महामारी के चलते ईद पर हाथ-गले न मिलाने की शहर मुफ्ती ने की अपील

अलीगढ़ के शहर मुफ्ती ने सभी मुस्लिम भाइयों से अपील की है कि सभी लोग घरों में रहकर नमाज अदा करें. कोई भी किसी प्रकार से ना हाथ मिलाएं और गले भी मिलने की कोशिश ना करें.

अलीगढ़(Aligarh): कोरोना महामारी लॉक डाउन के चलते अलीगढ़ के शहर मुफ्ती ने सभी मुस्लिम भाइयों से अपील की है कि सभी लोग घरों में रहकर नमाज अदा करें. कोई भी किसी प्रकार से ना हाथ मिलाएं और गले भी मिलने की कोशिश ना करें.  इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति अगर कोरोना बीमारी से ग्रसित हुआ तो परिणाम बुरे होंगे. जिसका एएमयू प्रोफेसर ने भी समर्थन किया है.

इसे भी पढ़े: फिरोजाबाद: पुलिसकर्मी को कोरोना रिपोर्टर करवाने में आई कई दिक्कत

मुस्लिम समाज का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण त्यौहार ईद जोकि धर्म की स्थापना के समय से ही साल में दो बार जिसमें रमजान के पाक माह के अंतिम 3 दिनों तक भी मनाया जाता है. इस दिन सभी मुस्लिम भाई सुबह तड़के ईद की नमाज पढ़ने के बाद एक दूसरे से हाथ मिलाते हैं और गले भी मिलते हैं. लेकिन इस बार पूरे विश्व समेत हिंदुस्तान भी कोरोना वायरस महामारी से जंग लड़ रहा है. जिसके तहत लॉक डाउन किया हुआ है.

सरकारी गाइडलाइन के अनुसार एक दूसरे से 1 मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग और मुंह पर मास्क लगाकर सैनिटाइजेशन करते रहना अनिवार्य है. ऐसी स्थिति में किसी से हाथ मिलाना या गले मिलना दुखदाई हो सकता है. क्योंकि अगर गलती से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित हुआ और उसके संपर्क में ईद पर हाथ या गले मिला. तो उसके परिणाम बेहद गंभीर होंगे. इसीलिए अलीगढ़ के शहर मुफ्ती खालिद हमीद ने सभी मुस्लिम भाइयों से अपील की है कि इस बार सभी मुस्लिम भाई घर में ही रहकर ही नमाज अदा करें और किसी से हाथ मिलाने और गले मिलने की गलती ना करें.

वहीं एएमयू के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर रेहान अख्तर ने कहा कि पिछले दो माह से कोरोना महामारी को लेकर जारी की गई. सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक एक दूसरे से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की कोशिश करते आ रहे हैं. जिससे कि लोग कम से कम इफेक्टेड हों. सभी मुस्लिम भाई रमजान के पाक माह में भी घर पर रहे और नमाज अदा की. आगे कहा कि जुमा अलविदा से लेकर ईद तक काफी रिवायत हैं. जिनसे कोरोना होने का खतरा अधिक बढ़ता है. उनसे सभी को परहेज करना लाज में ही अनिवार्य है. इसीलिए कोई भी शख्स ना हाथ मिलाएं और गले भी ना मिलें.

रिपोर्टर- सुनीता बघेल (अलीगढ़)

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More