Local Heading

एक ‘ऐलान’ और सर्कस हुआ वीरान!

अलीगढ़ (Aligarh), जनपद में प्रदर्शनी लगी है पर इसमें वो बात नहीं दिख रही जो पहले हुआ करती थी. ऐसा इस प्रदर्शन में हिस्सा लिए राज सर्कस के मैनेजर का कहना है. दरअसल, देशभर में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. इसी क्रम में अलीगढ़ में भी लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है. कभी AMU तो कभी शाहजमाल या ईदगाह पर प्रदर्शन की खबरें आती रही हैं.

बहरहाल, इस विरोध प्रदर्शन के बीच राजकीय कृषि एवं औद्योगिक प्रदर्शनी (नुमाइश) आने के बाद अलीगढ़ में विरोध कर रहे लोगों ने इसका बहिष्कार किया है. वहीं इस प्रदर्शनी में पहली बार आए राज सर्कस के मैनेजर शमीम खान का कहना है कि सीएए और एनआरसी के कारण जिले के एक बड़े तबके ने नुमाइश का बहिष्कार कर रखा है. इसका बाकायदा एलान भी हुआ है. जिसके चलते सर्कस में बिल्कुल भी भीड़ नहीं आ पा रही है. आलम यह है कि जहाँ हमारे प्रत्येक दिन 4 शो होने थे वहीं महज 2 शो ही चला रहे हैं. फिर भी हालत  ये है कि हालत यह है कि उसमें भी 15 दर्शकों के बीच ही हमें शो चलाना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें : जामिया और शाहीन बाग में अनहोनी होने का डर! सुरक्षा बढ़ाने की मांग

शमीम खान का कहना है हम 6 लाख रुपये तो ट्रांसपोर्ट पर खर्च करके आए हैं. 65 लोग सर्कस में शामिल हैं. इसमें 40 कलाकार हैं. हमारे यहां पर छह वर्ष पहले तक जानवर रहे हैं, लेकिन इनको लेकर लगातार बरती गई सख्ती के चलते हमें इनको चिड़ियाघर में देना पड़ा, खैर एक ऐलान के बाद सर्कस वीरान सा हो गया है.

इसे भी पढ़ें : ‘अमित शाह का उल्टा चश्मा’ हुई लांच

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More