Local Heading

Shravani Pattnaik

Bihar Offbeat

आखिर कैसे बनता है मखाना, सच जानकर सिर पकड़ लेंगे आप!

Shravani Pattnaik
मखाने की खेती उथले पानी वाले तालाबों में की जाती है. बिहार के मिथिलांचल में मखाने की खेती होती है. देश का 80% मखाना बिहार
Bihar Offbeat

श्रावणी मेले में 3 अरब के कारोबार में 50 हजार को मिलता है रोजगार

Shravani Pattnaik
श्रावणी मेले का कई वर्गो के लोगों को महीनों से इंतजार रहता है. मेले का अर्थशास्त्र काफी बड़ा है. इसमें लगभग 50 से 60 लाख
Bihar Offbeat

पवन सिंह ने काजल से किया ‘लेहब गन्ना बेच के चुम्मा’ का वादा

Shravani Pattnaik
इस फिल्म के लगभग सभी गाने खुद पवन सिंह ने गाया है. लेकिन फिल्म के इस गाने में काजल राघवानी के साथ पवन सिंह के
Bihar Offbeat

मर जाऊंगा, मिट जाऊंगा! पर शराब नहीं छोडूंगा

Shravani Pattnaik
गांव में घुसते ही मौत का मातम घर-घर नज़र आता है. यहां हर पांच में से एक औरत विधवा है, वजह है शराब. इसके खिलाफ
Bihar

समस्तीपुर सांसद रामचन्द्र पासवान का निधन, पटना में शाम 4 बजे होगा अंतिम संस्कार

Shravani Pattnaik
पार्टी कार्यालय में दिन के 11 बजे से 3 बजे तक अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. शाम 4 बजे अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के
Bihar

नवादा में बिजली गिरने से 9 लोगों की मौत, कई घायल

Shravani Pattnaik
बिजली गिरने से 9 लोगों की मौत हो गई है. हादसे में 13 अन्य लोग घायल हो गए हैं .घायलों को इलाज के लिए नवादा
Bihar Offbeat

स्वेता ने बढ़या जिले का मान, यूजीसी नेट में मिली सफलता

Shravani Pattnaik
श्वेता ने न केवल अर्थशास्त्र विभाग बल्कि सभी विषयों में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने का गौरव हासिल किया है. राजपुर निवासी औषधीय खेती को बढ़ावा
administration Bihar

मुज्जफरपुर में राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है : डीएम

Shravani Pattnaik
उन्होंने कहा बीते दिन रानीखेड़ा पंचायत के शीतलपट्टी गांव में डूबकर तीन बच्चे की मौत से बाढ़ का कोई लेना देना नही है. शत्रुघन राम
administration Bihar

विभागीय लापरवाही के चलते करोड़ो की राशि से निर्माणाधीन भवन जर्जर

Shravani Pattnaik
जिला मुख्यालय के वार्ड नंबर चार में नदी किनारे बन रहे अल्पसंख्यक महिला छात्रावास पर कटाव का खतरा मंडरा रहा है. करोड़ो के राशि से
Bihar Offbeat

सूरज उगते ही इस गांव में पसर जाता है सन्नाटा

Shravani Pattnaik
नौरंगिया गांव में बैसाख के नवमी के दिन गांव के लोग अपना-अपना घर छोड़कर 12 घंटे के लिए गांव से बाहर जंगल में चले जाते

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More