Local Heading

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए चिलविरया चीनी मिल के विरूद्ध FIR के निर्देश

Yogi Adityanath
मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश द्वारा जनपद श्रावस्ती व बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति, कानून व्यवस्था एवं महत्वाकांक्षी जनपदों के विकास सम्बन्धी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की प्रगति की गहन समीक्षा 30 नवम्बर तक सड़कें गड्ढामुक्त न होने पर टीम गठित कर कराई जायेगी।

बहराइच– मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद श्रावस्ती के कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद श्रावस्ती एवं बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति, कानून व्यवस्था एवं महत्वाकांक्षी जनपद के विकास सम्बन्धी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के प्रगति की गहन समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के समक्ष नीति आयोग द्वारा निर्धारित सेक्टरों में मापदण्डों की प्रगति का प्रस्तुतिकरण भी प्रस्तुत किया गया।

बैठक में मुख्यमंत्री ने इस बात के निर्देश दिये कि निर्धारित अवधि 30 नवम्बर 2019 तक जनपदों में सड़कें गडढामुक्त न हों तो जनपद स्तर पर एक अलग टीम गठित कर जाॅच करवायी जाये तथा उसमें जवाबदेही तय करते हुए सम्बन्धित के विरूद्ध निलम्बन की कार्रवाई सुनिश्चित हो।
उन्होंने जनपद बहराइच की चिलवरिया चीनी मिल में गन्ना किसानों का भुगतान मात्र 27 प्रतिशत ही होने पर नाराज़गी प्रकट करते हुए निर्देश दिये कि इस मामले में FIR दर्ज कर कार्रवाई की जाये। उन्होंने थारू जनजाति के ग्रामवासियों को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से लाभान्वित कराने तथा राजस्व ग्राम के रूप में इन गाॅवों को चिन्हित किये जाने के सम्बन्ध में भी निर्देशित किया है।

मुख्यमंत्री ने पाईप पेयजल परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान कहा है कि प्रदेश में किसी भी योजना के लिए धनाभाव नहीं है। परियोजना के लिए रिवाईज़ स्टीमेट भेजने, मानक के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण कार्य न होने तथा समय से उपयोगिता प्रमाण पत्र न भेजने के कारण परियोजनाएं लम्बित हो जाती हैं। उन्होंने ऐसे मामलो में नोडल अधिकारियों की तैनाती कर जाॅच कराये जाने के निर्देश दिये हैं कि परियोजनाओं के पूर्ण हो जाने के बाद भी आम जनता को उसका लाभ क्यों नहीं मिल पा रहा है।

इसके साथ ही जो योजनाएं निर्माणाधीन हैं, समय से क्यों नहीं पूर्ण हो पा रही हैं इसके लिए जिम्मेदारी तय कर कार्रवाई की जाए। उन्होंने अनियमित ढंग से विद्युत बिल भेजने के सन्दर्भ में निर्देशित किया है कि इसमें सम्बन्धित की जवाबदेही तय की जाय। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत दोनों जनपदों में फीडिंग का कार्य समय से हो और जो किसान अभी इस योजना से वंचित हैं उनसे सम्बन्धित कमियाॅ सुधार कर उन्हें भी लाभान्वित कराने की कार्यवाही की जाय।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More