Local Heading

बरेली में 102 एम्बुलेंस का चक्का जाम 

उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद में एम्बुलेंस ड्राइवरों ने अपनी मांगों को लेकर हड़ताल करते हुए जिला चिकित्सालय परिसर में धरना प्रर्दशन किया.

बरेली(Bareilly): उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद में एम्बुलेंस ड्राइवरों ने अपनी मांगों को लेकर हड़ताल करते हुए जिला चिकित्सालय परिसर में धरना प्रर्दशन किया. एम्बुलेंस चालकों ने सरकार पर आरोप लगाया कि कई बार अपनी समस्याओं को बताने के बाद भी सरकार उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा है। समाधान ना होने पर आज जिले मे 102 एम्बुलेंस कर्मचारियों ने चक्का जाम कर दिया है, जिले भर मे एम्बुलेंस 102 की 43 गाड़िया  है .

इसे भी पढ़े: मथुरा: दो रोडवेज कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित

समय से सैलरी न देना और सैलरी में भारी कटौती को लेकर प्रदेश कमेटी के आवाहन पर जिला कमेटी ने आज हॉस्पिटल परिसर मे 102 एम्बुलेंस गाड़ियों का चक्का जाम कर विरोध जताया. कैरोना वैश्विक महामारी को लेकर जहा सारी जिंदगी ठहर सी गयी है. वहां एम्बुलेंस कोरोना योद्धा ही सब जगह नजर आ रहे है लेकिन ये योद्धा केवल कागजो में ही अच्छे लग रहे है जबकि हकीकत जिंदगी में दो माह की सैलरी न मिलने से भुखमरी की कगार पर आकर जिंदगी जीने को विवश है. आरोप है कि एम्बुलेंस कर्मचारी की मानदेय पिछले तीन माह से सैलरी नही दी जा रही है जिससे इनके परिवार भुखमरी पर आ गए है.

यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष हनुमान पांडेय ने हेड आफिस जाकर अधिकारियों से बात की लेकिन सैलरी न देने में अशमर्थता जताई. जिस पर प्रदेश कमेटी मजबूर होकर अपनी मांगो को लेकर हेड आफिस गेट पर पिछले 25 जून से आमरण अनशन पर बैठ गए.

रिपोर्टर- अशोक कुमार गुप्ता

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More