Local Heading

बिजली के खंबे से गिरकर मजदूर की दर्दनाक मौत, सौदेबाजी में 4 घण्टे पड़ी रही लाश

इस सौदेबाज़ी में मजदूर की लाश मौके पर 4 घण्टे से ज़्यादा पड़ी रही. पुलिस तमाशाई बनी रही. बिजली वाले मौके पर पहुंचे ही नहीं

बरेली:(Bareilly)। सीमेंट के खंबे पर तार खींचने को चढ़े एक मजदूर की मौत खम्बा टूटकर गिरने से हो गई. जिसके बाद ठेकेदार ने मृतक मजदूर के परिजनों से उसकी मौत का सौदा 1 लाख 75 हज़ार रुपये में कर लिया. इस सौदेबाज़ी में मजदूर की लाश मौके पर 4 घण्टे से ज़्यादा पड़ी रही. पुलिस तमाशाई बनी रही. बिजली वाले मौके पर पहुंचे ही नहीं. मजबूर होकर मृतक के परिजनों को ठेकेदार के आगे झुकना ही पड़ गया.

मामला बरेली ज़िले के थाना देवरनिया (Dewraniya) का है. रिछा रोड स्टेशन के सामने इस्लामनगर गौंटिया में बिजली की लाइन पर तार खींचे जा रहे थे. ठेकेदार ने तार खींचने को दिहाड़ी मजदूर लगा रखे थे. सीमेंट के एक खम्बे पर मान सिंह नाम का एक मजदूर चढ़ा हुआ था. 40 बरस का मान सिंह गांव इटौआधुरा का रहने वाला था. जैसे ही तार खींचे गए. सीमेंट का बिजली खम्बा टूट गया. मान सिंह खम्बे के साथ ही ज़मीन पर गिर पड़ा. उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई.

एक ठेकेदार डलवा रहा है बिजली लाइन

बिजली के खम्बे के टूटकर गिरने और एक मजदूर की मौत हो जाने की खबर पर देवरनिया पुलिस मौके पर पहुंची ज़रूर, लेकिन कोई कार्रवाई करने के बजाय खामोश तमाशाई बनकर खड़ी हो गई. दरअसल ठेकेदार के असर के चलते पुलिस ने कोई कार्रवाई करने के बजाय मृतक के परिजनों से ठेकेदार से बात करने की बात कह दी. बिजली विभाग का कोई अधिकारी मौके पर पहुंचा ही नहीं.

मृतक के घरवालों ने ठेकेदार से बात की तो उसने एक लाख रुपये देने की बात कही. मृतक के छोटे-छोटे दो बच्चे हैं. उसके परिजनों ने उसकी गरीबी को देखते हुए 5 लाख रुपये मुआवजा देने की बात कही. लेकिन ठेकेदार ने इंकार कर दिया. 4 घण्टे से ज़्यादा लाश यूँ ही पड़ी रही. रात के आठ बज गए.

किसी भी तरह से सरकारी अमले की तरफ से कोई मदद मिलती नज़र नहीं आई तो मृतक के परिजनों को ठेकेदार के सामने झुकने को मजबूर होना पड़ा. मृतक के परिजन खूब गिड़गिड़ाए, लेकिन ठेकेदार का दिल नहीं पसीजा. कुछ लोगों ने बीच में पड़कर सिफारिश भी की, लेकिन ठेकेदार ने अपनी तरफ से 1 लाख 75 हज़ार पर लॉक कर दिया. मजबूरी में मृतक के परिजनों को मानना पड़ गया.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More