Local Heading

CM योगी के ‘राइट हैंड’ समाजवादी पार्टी में हुए शामिल, जानें कौन हैं सुनील सिंह

सुनील सिंह ने सपा में शामिल होते उत्तर प्रदेश से भाजपा को ऊखाड़ फेंकने की सौगंध तक खा डाली. यही नहीं उन्होंने भाजपा पर प्रदेश की जनता को धोखा देने का भी आरोप लगाया.

बरेलीः(Bareilly)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के राइट हैंड कहे जाने वाले व हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व अध्यक्ष सुनील सिंह समाजवादी पार्टी की साइकिल पर सवार हो गए हैं. सुनील सिंह ने आज यानी शनिवार को समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के सामने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. सुनील सिंह ने सपा में शामिल होते ही भाजपा को उत्तर प्रदेश से उखाड़ने की सौगंध भी खाई.

बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व अध्यक्ष सुनील सिंह की एक हफ्ते पहले ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव से लखनऊ में मुलाकात की थी. जिसके बाद से ही उनके सपा में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे थे. मुलाकात के एक हफ्ते बाद ही सुनील सिंह अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए.

सुनील सिंह ने सपा में शामिल होते उत्तर प्रदेश से भाजपा को ऊखाड़ फेंकने की सौगंध तक खा डाली. यही नहीं उन्होंने भाजपा पर प्रदेश की जनता को धोखा देने का भी आरोप लगाया.

कौन हैं सुनील सिंह

सुनील सिंह कभी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद करीबी माने जाते थे. सुनील सिंह कभी योगी आदित्यनाथ को भगवान राम और खुद को उनका हनुमान बताते थे. आपको बता दें कि साल 2017 में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने से पहले सुनील सिंह उनके चहेते सिपहसालरों में से एक थे. सुनील सिंह को योगी आदित्यनाथ का राइट हैंड माना जाता था.

ये भी पढ़ेंःCAA-NRC को लेकर एक मुसलमान ने खोली इमाम की पोल, मिली यह सजा

ऐसे पड़ी फूट

जानकारों के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद करीबी माने जाने वाले सुनील सिंह कभी योगी की आंख का तारा हुआ करते थे. लेकिन साल 2017 में योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद सुनील सिंह के ऊपर रासुका लगा दी गई. इससे नाराज सुनील सिंह ने स्वयं को हिंदू युवा वाहिनी का प्रमुख घोषित कर दिया था. जिसके बाद उनके ऊपर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. जिसके बाद सुनील सिंह ने एक अलग से संगठन हिंदू युवा वाहिनी (भारत) बना लिया.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More