Local Heading

बरेली में आतंक का प्रयाय बन चुके कुत्ते और बंदर, रोजाना 100 लोगों को बना रहे शिकार

अकेले जिला अस्पताल में रोजाना 80 से 90 मरीज आ रहे हैं. लेकिन बावजूद इसके नगर निगम और वन विभाग इस दिशा में कोई बड़ा कदम नहीं उठाया है.

बरेलीः (Bareilly)। उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद में इन दिनों आवारा कुत्तों और बंदरों ने घोर उत्पाद मचा रखा है. एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक अकेले बरेली जिले में रोजाना आवारा कु्त्ते और बंदर लगभग 100 लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं. प्रतिदिन कुत्ते और बंदरों के शिकार मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है. अकेले जिला अस्पताल में रोजाना 80 से 90 मरीज आ रहे हैं. लेकिन बावजूद इसके नगर निगम और वन विभाग इस दिशा में कोई बड़ा कदम नहीं उठाया है.

आपको बता दें कि रोजाना 150 से अधिक लोग जिला अस्पताल में एंटी रैबीज इंजेक्शन लगवाने के लिए यहां पहुंच रहे हैं. जिनमें से 70 से 80 मरीज नए व बाकी पुराने हैं. वहीं इन दिनों सीएचसी-पीएचसी अस्पतालों में रैबीज इंजेक्शन की कमी के चलते इन दिनों जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. अकेले इसी महीने में अभी तक 1500 से अधिक मरीज जिला अस्पताल में रैबीज इंजेक्शन लगवाने के लिए पहुंच चुके हैं.

ये भी पढ़ेंःCAA-NRC को लेकर एक मुसलमान ने खोली इमाम की पोल, मिली यह सजा

जानवरों के इस बढ़ते उत्पाद के बावजूद स्थानीय प्रशासन कान में रुई डाले बैठा है. जानकारी के लिए बता दें कि अभी कुछ ही दिन पहले फरीदपुर इलाके के एक गांव रजऊ परसपुर में छत पर कपड़े सुखाने गई एक महिला पर बंदरों के एक झुंड ने हमला कर दिया था. जिसमें उस महिला की मौत हो गई थी. जानवरों के इस बढ़ते आतंक से जिले के लोग खौपजुदा हैं वहीं दूसरी तरफ प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More