Local Heading

संकट की इस घड़ी में काशी सबका कर सकती है मार्गदर्शन, PM ने दिया Whatsapp नंबर

वाराणसी(Varanasi): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 मार्च यानी बुधवार को शाम 5 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वाराणसी के लोगों के साथ कोरोना वायरस के मुद्दे पर संवाद कर रहे हैं. पूरे विश्व में जानलेवा महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस से जंग का एलान करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से मुखातिब हैं. उन्होंने इस मौके पर लोगों से इस बातचीत में शामिल होने की अपील की थी.

ट्वीट में यह जानकारी भी दी गई है कि कोरोना वायरस पर की जाने वाली यह बातचीच राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन और नमो एप पर लाइव प्रसारित हो रही है. इस दौरान डॉक्टरों और अन्य मेडिकल स्टाफ के साथ होने वाले दुर्व्यवहार को लेकर पूछे गए प्रश्न के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि अगर मेडिकल कर्मियों के साथ बुरे बर्ताव की जानकारी मिलती है तो आप ऐसा करने वालों को चेतावनी दीजिए और समझाइए कि ऐसा नहीं होना चाहिए.

उन्होंने यह भी बताया कि पूरी दुनिया में 1 लाख से ज्यादा लोग सही हो चुके हैं. उन्होंने बताया कि सरकार ने वॉट्सऐप के साथ मिलकर एक हेल्पडेस्क भी बनाई है. जिसके जरिए आप 9013151515 पर वॉट्सऐप कर आप इस सेवा से जुड़ सकते हैं और जानकारियां पा सकते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि 21 दिन में हमे कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई को जीतना है. इसमें काशी वासियों की महत्वपूर्ण भूमिका है. संकट की इस घड़ी में काशी सबका मार्गदर्शन कर सकती है. काशी का तो अर्थ ही है शिव. इस संकट के समय में काशी के लोग पूरी दुनिया को सीख दे सकते हैं. उन्होंने कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिन में जीता गया था, आज कोरोनी के खिलाफ जो युद्ध पूरा देश लड़ रहा है, उसमें 21 दिन लगने वाले हैं. हमारा प्रयास है इसे 21 दिन में जीत लिया जाए.

उन्होंने कहा कि नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है. मां शैलपुत्री स्नेह, करुणा और ममता का स्वरूप हैं. उन्हें प्रकृति की देवी भी कहा जाता है. आज देश जिस संकट से गुजर रहा है, ऐसे समय में उनके आशीर्वाद की बहुत आवश्यकता है. मैं कामना करता हूं कि उनकी कृपा से इस संकट से हम उनके आशीर्वाद से लड़ाई लड़ लेंगे. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि काशी का सांसद होने के नाते मुझे ऐसे समय में आपके बीच होना चाहिए था, लेकिन आप यहां दिल्ली में जो गतिविधियां हो रही हैं, उससे भी परिचित हैं. यहां की व्यस्तता के बावजूद मैं वाराणसी के बारे में निरंतर अपने साथियों से अपडेट ले रहा हूं.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More