Local Heading

पढ़ाई के लिए आए छात्र-छात्राएं पहुंचाए जाएंगे घर

प्रयागराज(Prayagraj): अलग-अलग जिलों से शहर में तैयारी और पढ़ाई के लिए आए हजारों छात्र-छात्राओं औऱ प्रतियोगियों के लिए राहत की खबर है. सभी विद्यार्थियों को उनके घर पहुंचाया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर सोमवार रात में छात्रों को लेकर बसों की रवानगी भी शुरू हो गई.

प्रशासन का आकलन है कि यहां 10 हजार से अधिक युवा फंसे हैं. इन्हें 300 बसों की मदद से दो दिनों में घर पहुंचाने के दावे किए जा रहे हैं.प्रतियोगी परीक्षाओं का केंद्र होने की वजह से दूसरे जिलों के हजारों युवा यहां आकर पढ़ाई करते हैं. लॉकडाउन में सभी तरह की शैक्षणिक गतिविधियां ठप हो गई हैं. लेकिन बड़ी संख्या में विद्यार्थी यहीं फंसे रह गए. हॉस्टल तथा डेलीगेसी में छात्र-छात्राओं के सामने अब भोजन का भी संकट खड़ा हो गया है. ऐसे में घर भेजे जाने की मांग वे कई दिनों से कर रहे हैं.

अब उनका यह कष्ट दूर होने जा रहा है. कोटा के बाद मुख्यमंत्री ने अब यहां अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को भी उनके घर पहुंचाने का आदेश दिया. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री के आदेश के क्रम में प्रयागराज के डीएम, एसएसपी के अलावा एमडी रोडवेज को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं. मुख्यमंत्री के इस आदेश के क्रम में जिला प्रशासन ने छात्र-छात्राओं को उनके घर तक पहुंचाने की प्रक्रिया तत्काल शुरू कर दी.  डीएम भानु चंद्र गोस्वामी के आदेश पर रात में ही छात्रों की रवानगी शुरू हो गई. रवानगी के निर्धारित तीनों स्थलों पर देर तक बड़ी संख्या में भी विद्यार्थी पहुंच गए थे. डीएम, एसएसपी, एडीएम सिटी समेत अनेक अफसर पूरी टीम के साथ देर रात तक मौके पर डटे रहे.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More