Local Heading

घर बुलाकर बलात्कार के नाम पर करती थी ब्लैकमेल…

नोयडा: मासूमों को अपने चंगुल में फंसाकर झूठे मुकदमे का हवाला देकर लाखों वसूलने वाले गिरोह का पर्दाफाश हो चुका है। एक महिला और 3 अन्य व्यक्तियों द्वारा इस घटना को अंजाम दिया जाता था। महिला बलात्कार के झांसे में फंसाकर मासूमों को अपना शिकार बनती थी, जब पुलिस को इसकी भनक लगी तो इस गिरोह की तलाश में जुट गयी।

पीड़ित का कहना है की उसे व्हाट्सएप के जरिये सम्पर्क किया गया। सम्पर्क करने वाली महिला अपनी मीठी- मीठी बातों व फोटो के जरिये उसे गुमराह करने में सफल रही।

पुलिस का कहना की महिला नौकरी के बहाने अपने साथी अरुण के साथ लोगों से मिलती थी। उसके बाद उनसे फ़ोन के जरिये सम्पर्क बनाकर उनसे व्हाट्सएप चैट कर तरह तरह की फोटो भेजकर अपने जल में फंसा लेती थी।

पुलिस ने यह भी बताया कि अरुण के द्वारा पीड़ित की विडिओ बना ली जाती थी। जिसके बाद पुलिस धमकी देकर मोटी रकम वसूली जाती थी। इस टीम में 49 वीं वाहिनी PAC का एक हेड कॉन्स्टेबल भी शामिल था।

विजय सिंह दरोगा बनकर लोगों को डराता धमकाता था। एक अन्य अभियुक्त पुष्पेंद्र पीड़ित व पुलिस के बीच मध्यस्थता करवाकर पैसे का लेन- देन करता था। जिसके बाद पीड़ित द्वारा थाना दादरी पर उपरोक्त अभियुक्तगणों के खिलाफ मामला पंजिकृत कराया गया। इस मामले पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने 276550 रूपये कैश, एक निरीक्षक की वर्दी, पहचानपत्र व सेंट्रो कार बरामद किया है। महिला के द्वारा हनी ट्रैप में फंसाकर झूठे बलात्कार के मुदकमे के आरोप में बाकि साथियों को गिरफ्तार किया है।

Related posts

बीच सड़क पर बाघ ने राहगीर को बनाया अपना शिकार!

Deepanshi

भूलकर भी इस तालाब के पास नहीं आना!

Asif Ali

टीचर्स भूलकर भी क्लास में ना चलाएं मोबाइल, चुकानी पड़ सकती है बड़ी कीमत!

Deepanshi

धरने पर बैठी प्रियंका

Devesh Srivastava

कॉन्डम देगा हत्यारों को सजा, बनेगा अहम सबूत

Ravinder Kumar

महिला के पेट से निकले इतने केचुएं, डॉक्टर्स भी रह गए दंग!

Deepanshi

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More