Local Heading

निजामुद्दीन मरकज केस में कोर्ट ने तबलीगी जमात से जुड़े 122 मलेशियाई नागरिकों को दी जमानत

दिल्ली: (Delhi) दिल्ली की एक कोर्ट ने वीजा नियमों का उल्लंघन कर निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने के केस में मलेशिया के 122 नागरिकों को मंगलवार को जमानत दे दी. इन पर वीजा शर्तों की अवहेलना करने के अलावा अवैध रुप से मिशनरी गतिविधियों में शामिल होने व देश में कोरोना महामारी के चलते जारी किए गए सरकारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने के आरोप हैं.  

मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट गुरमोहिना कौर ने 10 हजार रुपये के निजी मुचलके पर विदेशियों को जमानत दी. इन लोगों ने याचिका के जल्द निपटारे के लिए 8 जुलाई के लिए मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष सूचीबद्ध होने वाली याचिका के लिए आवेदन दायर किए. सुनवाई के दौरान ये सभी विदेशी नागरिक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोर्ट के सामने पेश हुए.

ये भी पढ़ें: दिल्ली-NCR में छिपा हो सकता है विकास दुबे! CCTV फुटेज से पुलिस विभाग सतर्क

गौरतलब है कि कोविड-19 को लेकर केन्द्र सरकार के दिशा-निर्देशों व राज्य सरकारों और पुलिस के आदेश का उल्लंघन करने पर हजारों जमातियों के खिलाफ विभिन्न राज्यों में क्रिमिनल केस दर्ज किए गए थे, जिनकी सुनवाई कोर्ट में लंबित हैं. केन्द्र सरकार ने हजारों जमातियों को बैन करके उनके वीजा रद्द कर दिए थे, जिनमें से 34 विदेशी जमातियों ने सरकार के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पिटिशन दायर की हैं. सुप्रीम कोर्ट ने 10 जुलाई को मामले की अगली सुनवाई करने का फैसला किया है.     

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More