Local Heading

ई-वाहनों से होगा दिल्ली का प्रदूषण खत्म

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को खत्म करने के लिए सरकार अब ई-व्हीकल की ओर आगे बढ़ रही है. केन्द्रीय राजमार्ग और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ई-व्हीकल पॉलिसी पर गंभीर हैं और 2024 तक दिल्ली की सड़कों पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को 50 प्रतिशत से ज्यादा ई-व्हीकल कैटेगरी में बदलना चाहते हैं.

नई दिल्ली : दिल्ली में ई-व्हीकल को बढ़ावा देने के लिए देश की सरकार खासी गंभीर है. क्योंकि सारी दुनिया में बढ़ते प्रदूषण का फिलहाल ई-व्हीकल एक अच्छा और सस्ता विकल्प बन रहे हैं.

ई-व्हीकल जहां एक तरफ प्रदूषण खत्म करने में अहम भूमिका निभाते हैं, वहीं. जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता भी कम होती है. वहीं, इस दिशा में अब दिल्ली सरकार ने केन्द्र सरकार के नीति को लागू करते हुए दिल्ली में ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं.

दिल्ली में शुरू हुआ पहला इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन

मार्च 2020 तक 50 चार्जिंग स्टेशन लगाने का टारगेट

क्रेडिट/डेबिट कार्ड, ई वॉलेट, यूपीआई और भीम ऐप के माध्यम से किया जा सकता है पेमेंट

कार वालों को 1.60 रुपये/किलोमीटर से 1.80 रुपये/किलोमीटर खर्च आएगा.

इस वित्तीय वर्ष के अंत तक करीब 50 और जगहों पर चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे.

दिल्ली सरकार ई-वाहनों को प्रोत्साहित करने के लिए इस दिशा में दिल्ली के ऊर्जा मंत्री श्री सत्येंद्र जैन ने साउथ एक्सटेंशन पार्ट-2 स्थित बीएसईएस के ग्रिड में पहले स्मार्ट पब्लिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का उद्घाटन किया. एक पैनल में दो गाड़ियां चार्ज की जा सकती हैं. एक बार चार्जिंग के लिए लोगों को 160-200 रुपए तक देने होंगे. कार वालों को 1.60 रुपये/किलोमीटर से 1.80 रुपये/किलोमीटर खर्च आएगा.

ऑनलाइन देख सकेंगे अपना नजदीकी चार्जिंग स्टेशन

यह अपनी तरह का अनोखा कांन्सेप्ट है, जो एक मोबाइल ऐप के माध्यम से काम करेगा. इलेक्ट्रीफाइ नाम के मोबाइल ऐप पर वाहन मालिक ऑनलाइन देख सकते हैं कि उनका नजदीकी चार्जिग स्टेशन कौन सा है और किस चार्जिंग स्टेशन पर अभी चार्जिंग पोर्ट खाली है या चार्जिंग के लिए कितनी वेटिंग है. यही नहीं, वेटिंग से बचने के लिए वे वहां पर जाने से पहले ही अपने लिए एक चार्जिग स्लॉट भी बुक कर सकते हैं और उसके लिए ऑनलाइन भुगतान भी कर सकते हैं. यह व्यवस्था इस लिए की गई है ताकि इलेक्ट्रिक वाहनों के मालिकों का समय बचे और चार्जिंग स्टेशन पर जाने के बाद उन्हें कोई दिक्कत न हो. ऑनलाइन अग्रिम भुगतान क्रेडिट/डेबिट कार्ड, ई वॉलेट, यूपीआई और भीम ऐप के माध्यम से किया जा सकता है.

दिल्ली में हैं 2500 इलेक्ट्रिक कारें

बीएसईएस के सीईओ अमल सिन्हा के अनुसार, दिल्ली में करीब 2500 इलेक्ट्रिक कारें है. उन्हें चार्ज करने के लिए ही कंपनी ने साउथ एक्स पार्ट-2 में चार्जिंग के दो पैनल लगाए हैं. एक पैनल में दो गाड़ियां एक साथ चार्ज की जा सकती हैं. इस वित्तीय वर्ष के अंत तक करीब 50 और जगहों पर चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे. आने वाले कुछ सालों में करीब 150 चार्जिंग स्टेशन बनाने का प्लान है. आने वाले सालों में दिल्ली में इलेक्ट्रिक कारों की संख्या बढ़ेगी. ऐसे में चार्जिंग स्टेशन भी बनाने होंगे. इसे देखते हुए कंपनी ने उन स्थानों पर चार्जिंग स्टेशन बनाने का काम शुरू किया है, जहां सबसे अधिक इलेक्ट्रिक कारें हैं

Related posts

नींबू लेने गई मासूम को दुकानदार के बेटे ने बनाया हवस का शिकार

Ramta

अवैध अतिक्रमण के खिलाफ सिटी मजिस्ट्रेट ने चलाया अभियान

Srajit Awasthi

एआरटीओ का ड्राइवर भी नहीं लगाता है सीट बेल्ट!

Asif Ali

विवादों में रही हैं एसपी संगीता कालिया

Ramta

विश्व योग दिवस पर प्रशासन ने एलईडी से किया प्रचार

Nitendra Jha

शराब बेचने से रोकने पर बढ़ा विवाद, जिम संचालक पर की ताबड़तोड़ फायरिंग

JITENDER MONGA

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More