Local Heading

मौत की आहट से पवन, मुकेश, विनय और अक्षय ने छोड़ा खाना

nirbhaya case

दिल्ली: (Delhi) निर्भया गैंगरेप मामले में दोषियों को सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी. इसके लिए डेथ वारंट भी जारी हो चुका है. तिहाड़ जेल प्रशासन ने मरने से पहले चारों दोषियों से उनकी अंतिम इच्छा पूछी है. जेल प्रशासन के मुताबिक कानूनी तरीके से उनकी अंतिम इच्छा पूरी की जाएगी.

16 दिसंबर 2012 में निर्भया के साथ हुई दरिंदगी की घिनौनी वारदात ने पूरे देश को दहला दिया था. 1 फरवरी को निर्भया के दोषियों को उनके गुनाह की सज़ा दी जाएगी. 1 फरवरी को सुबह 6 बजे चारों को फांसी होगी और जेल प्रशासन ने नोटिस जारी कर उनकी आखिरी इच्छा पूछी है. बहरहाल जेल प्रशासन के नोटिस का दोषियों ने जवाब नहीं दिया है. इस सवाल के जवाब में वह अपने किसी परिजन से मिल सकते हैं या अपनी प्रॉपर्टी किसी के नाम कर सकते हैं. या फिर धार्मिक पुस्तक या कुछ लिखने की भी मांग कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: ओ तेरी! गमला चोर निकला ब्रेजा गाड़ी वाला

वहीं जेल प्रशासन के सूत्रों का कहना है कि जोल में मौजूद दो दोषियों ने ठीक से खाना नहीं खाया है. डेथ वारंट जारी होने के बाद विनय ने दो दिन तक खाना नहीं खाया है. समझाने के बाद दोषियों ने थोड़ा खाना खाया और पवन ने भी खाना खाना कम कर दिया है. मुकेश फांसी से बचने के सभी अधिकार खत्म कर चुका है. जबकि अन्य दोषी अपनी दया याचिका दायर कर सकते हैं.       

ऐसे में दोषियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है कि कहीं वह कोई गलत कदम ना उठा लें. हर दो घंटे में सुरक्षाकर्मी वहां तैनात रहते हैं. चारों की सुरक्षा में 32 सुरक्षाकर्मी तैनात हैं. अगर किसी भी दोषी ने दया याचिका दायर की तो फिर से फांसी की सज़ा टल सकती है और फिर से नयी डेथ वारंट लेना पड़ेगा.   

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More