Local Heading

आतंकियों को नकली नोट सप्लाइ कर पाकिस्तान की भारत को चोट पहुंचाने की साजिश

पाकिस्तान नोटंबदी के लगभग 3 साल बाद अब नए नकली नोटों के जरिए भारत को नुकसान पहुंचाने के लिए काम कर रहा है। खुफिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आतंकी संगठनों को ISI अच्छी गुणवत्ता वाले नकली नोट बड़े पैमाने पर देने का काम कर रहा है।

  • पाकिस्तान बड़े पैमाने पर भारतीय मुद्रा के नकली नोट छाप रहा, आतंकियों को कर रहा सप्लाइ
  • नकली नोटों के सप्लाइ के लिए पाकिस्तान कूटनयिक मार्गों का भी कर रहा प्रयोग
  • सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान अच्छी गुणवत्ता वाले नोटों को बड़े पैमाने पर छाप रहा है

नई दिल्ली(New Delhi): नोटबंदी के लगभग 3 साल बाद पाकिस्तान फिर से नकली नोटों के जरिए भारत को चोट पहुंचाने में जुट गया है। एक खुफिया जांच में पता चला है कि पाकिस्तान अच्छी गुणवत्ता वाले नकली नोटों की बड़े पैमाने पर स्मगलिंग कर रहा है ताकि फेक इंडियन करंसी नोट (एफआईसीएन) के जरिए गैर-कानूनी गतिविधियों और आतंकी समूहों को बढ़ावा दिया जा सके। नकली नोटों को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों तक पहुंचाने का भी काम हो रहा है।

नेपाल-बांग्लादेश के जरिए पाकिस्तान से आ रहे नकली नोट

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बड़ी संख्या में पाकिस्तान से नकली नोटों को 2016 से पहले के अपने नेटवर्क और चैनलों के जरिए व्यवस्थित तरीके से भारत में लाने का काम हो रहा है। जानकार सूत्र का कहना है कि सबसे चौंकानेवाली बात है कि पाकिस्तान इसके लिए कूटनयिक मार्गों का भी दुरुपयोग कर रहा है। नेपाल, बांग्लादेश और दूसरे देशों के माध्यम से पाकिस्तान नकली नोटों को भारत में पहुंचाने का काम कर रहा है।

ISI बेहतर गुणवत्ता वाले नकली नोट बना रही

सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई इस बार ज्यादा बेहतर गुणवत्ता वाले नकली नोटों को बना रहा है। पहले के फोटोकॉपी नोट्स की तुलना में ये नोट काफी अच्छी क्वॉलिटी के हैं। बता दें कि इसी साल मई में नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट से डी-कंपनी से जुड़े यूनुस अंसारी को अरेस्ट किया। उसके साथ 3 पाकिस्तानी नागरिक भी गिरफ्तार किए गए थे। इनके पास से 76.7 मिलियन के भारतीय मुद्रा के नकली नोट बरामद किए गए।

खालिस्तानियों के पास से मिले थे नकली नोट

नकली नोटों को भारत पहुंचाने के लिए पाकिस्तान अलग-अलग धड़ों का प्रयोग कर रहा है। 22 सितंबर को खालिस्तान समर्थक खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के पास से 1 करोड़ रकम के नकली नोट बरामद किए थे। इस ग्रुप के पास से पुलिस ने 5 एके-47 राइफल्स, 30 बोर पिस्टल, 9 हैंड ग्रेनेड, 5 सैटलाइट फोन, 2 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए थे। यह सारा सामान पाकिस्तानी ड्रोन्स के जरिए पहुंचाया गया था।

ढाका से भी बरामद किए गए करोड़ों के नकली नोट

25 सितंबर को ढाका से पुलिस ने 4.95 मिलियन के नकली नोट बरामद किए थे। दुबई के रहनेवाले सलमान शेरा ने यह पार्सल सिलहट बांग्लादेश में भेजा था। जांच में पता चला कि पार्सल सिलहट से श्रीनगर के उपाजिला में पहुंचाया जाना था। जांच में खुलासा हुआ कि सलमान शेरा पाकिस्तान के ISI से जुड़े कुख्यात असलम शेरा का बेटा है। असलम 90 के दशक से नकली करंसी के बारोबार में है

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More