Local Heading

कोटक महिंद्रा बैंक में 9.46 करोड़ का गबन, एसडीओ पर कार्यवाई

प्रयागराज(Prayagraj): उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जनपद में एक प्राइवेट बैंक से करोड़ों के गबन का मामला सामने आया है. सिविल लाइंस स्थित कोटक महिंद्रा बैंक के एसडीओ पर 9.46 करोड़ रुपये के गबन का आरोप लगा है. बैंक मैनेजर की तरफ से दर्ज कार्रवाई गई एफआईआर में आरोपी अधिकारी ने गबन की बात स्वीकार की है.

बैंक मैनेजर की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर सिविल लाइंस थाने में एसडीओ अंशुमान दुबे के खिलाफ अमानत में खयानत औऱ ठगी का मुक़दमा दर्ज किया गया है. आरोप है कि एसडीओ अंशुमान दुबे ने गबन कर अपने परिचितों को पैसे ब्याज पर दिया है. फिलहाल पुलिस एफआईआर दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुटी है.

इस मामले में कोटक महिंद्रा बैंक के शाखा प्रबन्धक अमित मालवीय और क्षेत्रीय प्रबंधक मोहम्मद ताहिर ने बैंक के सेवा प्रदाता अधिकारी यानी एसडीओ अंशुमान दुबे के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में एफआईआर भी दर्ज करा दी है. बैंक के अधिकारियों ने एसडीओ के खिलाफ अमानत में खनायत और ठगी का मुकदमा दर्ज कराया है. गौरतलब है कि अंशुमान बैंक में पिछले पांच साल से कार्यरत था. कोटक महिन्द्रा बैंक का करेंसी चेस्ट यहां न होने के चलते रुपये को बैंक ऑफ बड़ौदा की खुल्दाबाद शाखा में जमा किया जाता था.

विभागीय स्तर पर करायी गई जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि बैंक ऑफ बड़ौदा में कम रकम जमा की गई. इस पर जब बैंक के उच्च अधिकारियों ने अंशुमान से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया. बैंक के अधिकारियों के मुताबिक अंशुमान ने लगभघ डेढ़ साल में नौ करोड़, 46 लाख , 27 हजार 500 रुपये का गबन किया है. इस मामले में सिविल लाइन पुलिस ने बैंक के अधिकरियों की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More