Local Heading

बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान, किसानों ने की क्षति आकलन की मांग

लखनऊ – बारिश और ओलावृष्टि से आलू और सरसों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। किसानों ने बारिश से सरसों की फसल को काफी नुकसान और आलू की फसल में गलन और रोग लगने की आशंका जताई है। कृषि विभाग भी इसे देखते हुए सक्रिय हो गया है और पीड़ित किसानों को फसल के नुकसान की भरपाई के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया है।

पश्चिमी विक्षोभ के चलते मौसम में आए बदलाव के चलते शाम से रात तक जमकर बरसात हुई। बारिश से फसलों को नुकसान हुआ है। जलभराव के चलते शहर में जाम की स्थिति पैदा हो गई। मौसम विभाग की मानें तो बारिश का सिलसिला जारी रह सकता है। इससे जिले के सभी विकास खंडों में आलू, सरसों ही नहीं सब्जियों की फसलों को भी भारी नुकसान हुआ है। आलू के खेत पानी से लबालब भर गए हैं। इससे आलू खराब हो सकता है। यदि अगले दो दिन भी लगातार बारिश होती है तो आलू और सरसों की फसलों को ज्यादा नुकसान हो सकता है।

इसे भी पढ़ें – किसानों की फसल बर्बादी का मुआवजा देने से भाग रही है योगी सरकार: प्रियंका गांधी

कृषि विभाग लगातार फसलों को हो रहे इस नुकसान पर नजर रखे हुए है। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि बारिश व ओलों से आलू के पत्ते फटने और सरसों के फूल झड़ने या फसल पलटने की स्थितियां पैदा होती हैं। किसान अपने आलू के खेतों में भरे पानी को निकाल दें, पानी भरा रहने से ज्यादा नुकसान की संभावना बनी रहती है। उन्होंने बताया कि जिन किसानों का केवाईसी है, वह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत नुकसान की जानकारी देने के लिए टोल फ्री नंबर 18002005142 पर स़ंपर्क करें।

मोहनलालगंज निवासी किसान नेता मनोज यादव ने कहा कि बारिश से सरसों और आलू की फसल को भारी नुकसान की आशंका है। हरी सब्जियों की फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। आने वाले समय में हरी सब्जियां और महंगी हो जाएंगी। प्रशासन को बारिश के आधार पर नुकसान का आंकलन करवाना चाहिए।

 

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More