Local Heading

बढ़ते तापमान से 200 से ज्यादा बंदरों की मौत!

मध्य प्रदेश में पानी की कमी और भीषण गर्मी के कारण 200 से ज्यादा बंदरों की मौत हो गई है. तपती गर्मी और लू से इंसान तो किसी तरीके से बच जा रहे हैं लेकिन बेजुबान पशु-पक्षी खुद को नहीं बचा पा रहे हैं. मध्य प्रदेश के देवास जिले में भीषण गर्मी और लू की वजह से कई बंदरों की माैत हो गई है.

इस बार तापमान ने अपना नया रिकॉर्ड कायम किया है. लोग परेशान हैं. किसान परेशान हैं. प्रकृति के साथ हमने जो मजाक किया है उसका नुकसान न सिर्फ हमारे ऊपर पड़ रहा है बल्कि पशु-पक्षी भी व्याकुल नजर आ रहे हैं.

दरअसल मध्य प्रदेश में पानी की कमी और भीषण गर्मी के कारण 200 से ज्यादा बंदरों की मौत हो गई है. तपती गर्मी और लू से इंसान तो किसी तरीके से बच जा रहे हैं लेकिन बेजुबान पशु-पक्षी खुद को नहीं बचा पा रहे हैं. मध्य प्रदेश के देवास जिले में भीषण गर्मी और लू की वजह से कई बंदरों की माैत हो गई है.

ऐसा माना है कि 200 से ज्यादा बंदरों की मौत हुई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बंदरों की मौत की वजह को हीटस्ट्रोक बताया गया है. भीषण गर्मी में तालाबों और नदियों के सूख जाने की वजह से बंदरों को पानी नहीं मिल रहा है. गर्म हवाओं और भीषण लू इनकी जान जाने की वजह बन रही है.

कई किलोमीटर दूर तक पानी का कोई बंदोबस्त ही नहीं है. नदी सूख चूकी है, पोखरों में भी पानी नहीं नहीं है. हैडपैंप हैं लेकिन वो भी सूख चुके हैं या खराब हैं. बंदरों के पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर के अनुसार पोस्टमार्टम में 9 बंदरों की मौत हीथ स्ट्रोक की वजह से मल्टिपल आर्गन फेल्योर होने के कारण निकल कर सामने आई है.

Related posts

પ્રચંડ કડાકા સાથે વિજળી પડતાં 120 ઘેટાં-બકરાના મોત

Alkesh Vyas

नींबू लेने गई मासूम को दुकानदार के बेटे ने बनाया हवस का शिकार

Ramta

एआरटीओ का ड्राइवर भी नहीं लगाता है सीट बेल्ट!

Asif Ali

विवादों में रही हैं एसपी संगीता कालिया

Ramta

शराब बेचने से रोकने पर बढ़ा विवाद, जिम संचालक पर की ताबड़तोड़ फायरिंग

JITENDER MONGA

सावधान: दिमागी बुखार के तांडव के बाद अब बच्चों पर विकलांगता का खतरा

Ravinder Kumar

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More