Local Heading

योग्यता पूछी तो भड़की मंत्री, कहा तुम्हे नौकरी की जरुरत नहीं है

भोपाल। मध्यप्रदेश के महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा उनकी योग्यता पूछना इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने कार्यकर्ता को कह दिया कि आपको नौकरी की जरुरत नहीं है। किसी और सरकार में नौकरी कर लेना, फिलहाल तो इतना ही वेतन मिलेगा।

इमरती देवी पहले भी चर्चा में रह चुकी हैं। स्वतंत्रता दिवस पर वे भाषण पूरा नहीं पढ़ पाई थी तो गुना जिले के प्रवास पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से चर्चा करते हुए उन्होंने यहां तक कह दिया था कि उन्हें बड़ी-बड़ी फाइलें देखकर नींद आती है।

मध्यप्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी शिवपुरी में आंगनाबाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच पहुंची थी। यहां पर जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को संवाद के लिए बुलवाया गया था। इस दौरान एक कार्यकर्ता के सवाल ने मंत्री के अलावा वहां हर उपस्थित व्यक्ति को आश्चर्य में डाल दिया। हुआ यह कि संवाद के दौरान मंत्री ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं से उनकी शैक्षणिक योग्यता के बारे में भी जानकारी हासिल की।

इस दौरान एक कार्यकर्ता ने हाथ उठाया और मंत्री से प्रश्न पूछने की इच्छा जाहिर की, जिसके बाद इमरती देवी ने कहा पूछिए आप क्या पूछना चाह रही हैं। इस पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने जवाब में कहा, आप हमसे तो पूछ रही हैं आपकी एजुकेशन क्या है? लेकिन आपकी क्वालिफिकेशन क्या है, ये तो बताइए? इस पर मंत्री खफा हो गईं और कार्यकर्ता से यह पूछ लिया आपको नौकरी करनी है या नहीं। वहीं मंत्री ने कहा कि आप कार्यकर्ता हैं, तभी महिला ने जवाब दिया कि वह कार्यकर्ता नहीं, बल्कि सहायिका हैं।

महिला के प्रश्न का जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि आपको अगर मानदेय कम लग रहा है तो हट जाओ, जो काम करेगी हम उसे देंगे। आप इस नौकरी को छोड़ दीजिए कहीं अच्छी सैलेरी पर काम कीजिए।

उल्लेखनीय है कि इमरती देवी का नाम इससे पहले भी सुर्खियों में आ चुका है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में वह मुख्यमंत्री का संदेश भी नहीं पढ़ पाईं थी। ग्वालियर में गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में तिरंगा फहराने के बाद उन्हें संदेश पढ़ना था, लेकिन वो अटकने लगीं।

काफी देर कोशिश के बाद जब उनसे नहीं पढ़ा गया, तो उन्होंने मंच से ही कह दिया था कि अब आगे कलेक्टर साब पढ़ेंगे। इतना कहकर वह हंसते हुए किनारे खड़ी हो गईं। प्रदेश की कैबिनेट मंत्री की ये हालत देख मौजूद अधिकारी व लोग भी अपनी हंसी नहीं रोक पाए थे।

इसके पूर्व मंत्री पद की शपथ लेने के बाद मंत्री जब गुना जिले के प्रवास पर पहुंची तो उन्होंने काम को लेकर कार्यकर्ताओं से यहां तक कह दिया था कि आफिस में फाइलों के ढेर देखकर उन्हें नींद आती है।

Related posts

ट्विटर पर एग्जिट पोल संबंधी पोस्ट नहीं चलेगा

Rahul Kumar

पति ने महिला के गर्भाशय में डाला मोटर साइकिल का हैंडल

Ramta

शिक्षक बना दबंग: छात्रा को लगवाए 168 थप्पड़

Rahul Kumar

मैं पद्मश्री सम्मान लौटाना चाहता हूँ: सैफ अली खान

Rahul Kumar

Crime: इंतजार था हिरण का, लेकिन हो गया बाघ का शिकार

Ramta

મોડાસાના ખંભીસર ગામે દલિત યુવકના વરઘોડામાં વિવાદ

Alkesh Vyas

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More