Local Heading

12 वीं फेल युवक ने बैंकिंग सर्वर में लगाई सेंध… निकाले लाखों रूपए

आरोपी ने अलग-अलग बैंक खातों का इस्तेमाल कर दिया घटना को अंजाम

पेटीएम एवं मोबीक्वीक वालेट का इस्तेमाल कर की धोखाधडी

इंदौर। राज्य सायबर सेल ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है, जिसने मोबाइल वाॅलेट के जरिए 70 हजार रूपए का अवैध ट्रांजेक्शन कर डाला। खास बात यह है कि यह युवक 12 वीं फेल है, बावजूद इसने तकनीक का इस्तेमाल कर धोखाधड़ी को अंजाम दिया।

विशेष पुलिस महानिदेशक अरुणा मोहन राव एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री राजेश गुप्ता द्वारा वर्तमान परिवेश में हो रही नवीन सायबर अपराध प्रणाली पर अंकुश लाये जाने की मुहिम के अंतर्गत, पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर सेल इंदौर जितेन्द्र सिंह के निर्देशन में एक ऐसे गिराह का पर्दाफाश किया है, जो विगत वर्ष पेटीएम एवं मोबीक्वीक के माध्यम से धोखाधडी कर अवैध लाभ अर्जित किया।

जितेन्द्र सिंह ने बताया कि 30 नवंबर 2018 को फरियादी गंगा सहाय जोशी की तरफ से शिकायत आई थी। उनके क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर किसी अज्ञात आरोपी ने पेटीएम एवं मोबीक्वीक वालेट के माध्यम से कुल 70000 रूपए का अवैध ट्रांजेक्शन कर लिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल अपराध पंजीबध्द कर निरीक्षक अम्बरीश मिश्रा के नेतृत्व में गठित टीम को जांच में लगाया गया।

जांच टीम द्वारा पाया कि आरोपी राहुल असावरा द्वारा अपने पेटीएम एवं मोबीक्वीक वालेट में फरियादी के क्रेडिट कार्ड नम्बर को एड कर धोखे से फरियादी से ओटीपी मांगकर अलग-अलग दिनांकों व बैंक खातों मे कुल 70000 रूपए का अवैध ट्रांजेक्शन कर लिया। आरोपी से घटना में प्रयुक्त मोबाईल फोन, सिम, बैंक पासबुके तथा एटीएम कार्ड बरामद किया गया।

Related posts

છ મહિનાના માસુમ પુત્રની સામે જ માતાનો ગળાફાંસો ખાઈ આપઘાત

Alkesh Vyas

ये क्या, मृतकों के शरीर के गहने कहां गायब हो गए?

Suneeta

धोखाधड़ीः बड़े ट्रक में लगाया छोटा इंजन, आनंद महिंद्रा सहित चार के खिलाफ केस दर्ज

Local News Desk

રેલવે યાર્ડ પાસે ખાનગી સિક્યુરિટી ગાર્ડની કરપીણ હત્યા

Alkesh Vyas

अजमेर: नौकर को काम से निकाला तो मालिक को चाकुओं से गोदा

Navin Vaishnav

संभाग कमिश्नर ने निगम के इंजीनियर्स को चेतायाः होलकर राज के इंजीनियर्स से सीखो काम करना

Deepak Vishwakarma

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More