Local Heading

इंदौर: कोरोना के लेकर सख्त हुआ प्रसाशन

एक और कोरोना काल में जहां इंदौर में उससे बचाव के लिए प्रशासन सख्त हुआ है. तो वहीं दूसरी ओर इसका फायदा उठाकर सड़कों पर सैनिटाइजर की दुकानें सज गई हैं.

इंदौर(Indore):  एक और कोरोना काल में जहां इंदौर में उससे बचाव के लिए प्रशासन सख्त हुआ है. तो वहीं दूसरी ओर इसका फायदा उठाकर सड़कों पर सैनिटाइजर की दुकानें सज गई हैं. दरअसल सड़कों पर बिकने वाला सैनिटाइजर कितना गुणवत्तापूर्ण होता .है यह कहना बहुत मुश्किल होता है. क्योंकि इसे बेचने को लेकर कोई मापदंड तय नहीं होते है.

इसे भी पढ़े:मैनपुरी: रेलवे ट्रैक के किनारे बनी झुग्गियों में रहने वाले कोई काम न होने से भूखे रहने को हैं मजबूर

इंदौर जिला प्रशासन ने अब तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं की है. वहीं सैनिटाइजर की गुणवत्ता को लेकर कुछ विशेषज्ञों ने सवाल जरूर खड़े किए हैं. उनका मानना है कि अपर्याप्त गुणवत्ता वाले सैनिटाइजर लोगों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं. क्योंकि इसमें मिलाए गए मिश्रण की गुणवत्ता प्रमाणित नहीं होती है इसलिए यह कहना बहुत मुश्किल होता है कि इसका इस्तेमाल करने से कोरोना वायरस मरता है. अगर लोग इस मंशा से इन सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं. जिससे अगर कोरोना वायरस नहीं मारा तो समाज में एक बार फिर कोरोना व्यापक पैमाने पर पैर पसार सकता है. हालांकि सैनिटाइजर सड़कों पर बेचने को लेकर अब तक कोई गाइडलाइन तय नहीं है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More