Local Heading

यदि मन में कुछ कर गुजरने की चाहत हो तो कोई अड़चन आड़े नहीं आती…

छतरपुर। यदि मन में कुछ कर गुजरने की चाहत और जज्बा हो तो कोई भी अड़चन आड़े नहीं आती। बेमिसाल हौसले और जज्बे की धनी ममता पटेल को पढ़ाई का ऐसा जुनून है कि जन्म से ही उसके दोनों हाथ न होने पर भी उसने स्कूल की पढ़ाई पैर से लिख कर पूरी की। उसका एक छोटा अविकसित सा हाथ है, जिसमें पंजे की बजाय एक नाम मात्र की अंगुली है।

ऐसी ही विषम स्थिति में अब ममता नगर के प्रतिष्ठित महाराजा कॉलेज छतरपुर से बीए प्रथम वर्ष की वार्षिक परीक्षा बाएं पैर से कॉपी में उत्तर लिख कर दे रही हैं।

महाराजा कॉलेज छतरपुर में कॅरियर काउंसलर एवं वाणिज्य विभाग में पदस्थ प्रो. सुमति प्रकाश जैन ने जब कॉलेज में ममता को पूरी लगन और उत्साह के साथ परीक्षा देते देखा तो ममता की प्रेरक संघर्ष गाथा जानी और उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार ऐसी विशेष छात्रा के रूप में उसकी काउंसलिग कर उसका हौसला बढ़ाया। ममता ने पेपर से फुरसत पाने के बाद बताया कि वह ग्राम तिलवां परा (राजनगर ) के सामान्य कृषक देशराज पटेल की इकलौती बेटी है। उसका एक बड़ा और एक छोटा भाई है,, जो उसका पूरा ध्यान रखते हैं। ममता ने बताया कि जन्म से ही उसके दोनों हाथ नहीं हैं, इस कारण उसके माता पिता उसकी इस कुदरती कमी को लेकर बहुत परेशान रहते थे।

इसके बाद भी उन्होंने उसे स्थानीय शासकीय प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने भेजा तो सभी ने कहा कि वो कैसे लिखेगी-पढ़ेगी? इसका उत्तर देते हुए ममता ने बताया कि उसने अपनी इस गंभीर समस्या को ईश्वर की मर्जी और एक चुनौती समझ कर स्वीकार किया और बचपन से छोटी कक्षा में पैर से लिखने का अभ्यास किया। इसी के चलते उसने पिछले वर्ष द्वितीय श्रेणी के साथ 12वीं की बोर्ड परीक्षा पास की और महाराजा कॉलेज जैसे नामी ओर बड़े कॉलेज में उसे पढ़ने का गौरव मिल गया।

Related posts

“बिजली की समस्या का कारण चमगादड़ है”

Pragati Raj

जब मवेशियों को लकड़बग्घे से बचाने के लिए भिड़ी मर्दानी

Ramta

बढ़ते तापमान से 200 से ज्यादा बंदरों की मौत!

Rahul Kumar

थकना मना है! अब ट्रेन में लीजिए मसाज का मजा

Rahul Kumar

अरे वाह! IAS की बेटी आंगनबाड़ी में…

Rahul Kumar

शराब की लत ने ली जान, महिला की हुई मौत

Ramta

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More