Local Heading

जितनी मर्जी खोद लो जिप्सम, देखकर कलेक्टर के भी होश उड़े

जिप्सम का करोड़ों रूपए का अवैध खनन

बीकानेर। लम्बे समय से सीमावर्ती क्षेत्र में जिप्सम का अवैध खनन चल रहा है, जिस पर अंकुश लगाने में खनिज विभाग व स्थानीय पुलिस पूरी तरह से विफल रही है। शनिवार देर शाम को जिला कलेक्टर कुमारपाल गौतम ने बज्जू थानान्तर्गत मगनवाला व कायमवाला क्षेत्र में जिप्सम के खनन का औचक निरीक्षण किया।

प्रथम दृष्टया उन्होंने इसे अवैध खनन पाया। कलेक्टर के पहुंचने पर वहां अवैध खनन कर रहे लोग जेसीबी व अपने वाहनों को छोड़ मौके से फरार हो गए। उन्होंने रात दस बजे तक इस क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन की जांच की।

गौतम ने बताया कि इस क्षेत्र में नियमानुसार खनिज विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को कार्य स्थल पर उपस्थित रहना चाहिए, लेकिन वे उपस्थित नहीं थे। क्षेत्र में हुए खनन को देख कर लग रहा था कि वृहद स्तर पर जिप्सम का दोहन हो रहा है।

निर्धारित सीमा से अधिक जमीन को खोदकर जितना जिप्सम निकालना चाहिए, उससे अधिक जमीन खोद कर जिप्सम खनन किया जा रहा था। इन जेसीबी को रविवार को बज्जू थाने में रखवाया गया है। उन्होंने बताया कि जो अवैध खनन हुआ है। उसकी अनुमानित लागत 2 से 4 करोड़ रूपये है।

परमिट की शर्तों का उल्लंघन

मगनवाला तथा कायमवाला क्षेत्र में परमिट की शर्तों का उल्लंघन कर जिप्सम खनन किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि खनन रवाना पर्ची दी जानी चाहिए। वह भी नहीं दी जा रही थी। इस तरह की व्यवस्था वहां कहीं भी नजर नहीं आई।

राज्य सरकार के नियमानुसार जिप्सम के खनन के बाद विभाग द्वारा एक पर्ची रवाना दी जाती है। मगर इस तरह की पर्ची देने का कोई प्रावधान इन क्षेत्र में नजर नहीं आ रहा था और स्पष्ट लग रहा था कि जिप्सम का खनन कर रहे व्यक्ति अपनी मर्जी से जितना चाहे जिप्सम खनन करें और ले जाएं।

जिस तरह जिप्सम का दोहन हो रहा है उससे ऐसा लगता है कि खनिज विभाग की तरफ से किसी तरह की कोई कार्यवाही अब तक नहीं की गई। अगर कार्यवाही की गई होती तो नियम विरूद्ध ये लोग खनन नहीं करते।

Related posts

राजस्थान में फ्लाइट से मंगवाया जा रहा है धनिया!

Ramta

डॉक्टरों की कमी झेल रहे जवाहर अस्पताल के हालात और बिगड़े

Shankardan Detha

नहर में डूबने से युवक की मौत,चार घंटे बाद बाहर निकाला शव

Shankardan Detha

ये कैसी दरिंदगी?

Shankardan Detha

आफत का रेगिस्तान

Shankardan Detha

म्हारे हिवड़ा में उड़ी धूल…

Shankardan Detha

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More