Local Heading

भारत-पाक सीमा पर तैनात होंगे कैमरे वाले खोजी कुत्ते, BSF दे रहा है ट्रेनिंग

जैसलमेर. भारत पाकिस्तान से सटे अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तारबंदी और सीसीटीवी कैमरे के बाद अब कैमरे से लैस खोजी कुत्ते (श्वान) तैनात करने की योजना है. सीमा सुरक्षा बल बार्डर पर हाई-टेक निगरानी के लिए खोजी श्वानों के कॉलर पर कैमरे फिट कर उन्हें प्रक्षिशण दे रहा है. इस कदम का उद्देश्य सीमा के साथ कठिन इलाके में गश्त के दौरान दुश्मनों के लक्ष्य का सटीक विवरण प्राप्त करना है.  कैमरों वाले श्वानों में आतंकवाद विरोधी अभियानों और कठिन इलाकों में गश्त करने फायदेमंद साबित होगी.

बीएसएफ के ग्वालियर स्थित राष्ट्रीय श्वान प्रशिक्षण संस्थान में वर्तमान में कैमरे से लैस डॉग स्क्वायड को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. बीएसएफ जर्मन शेफर्ड, लेब्राडोर रीट्रिवर, डाबरमैन पिंसचर, क्रोकर स्पेनियल और बेल्जिन मेलेनोइस को प्रशिक्षित करती है. पाकिस्तान बॉर्डर पर जर्मन शेफर्ड और लेब्राडोर अधिक संख्या में तैनात हैं, जो विस्फोटक सामग्री के साथ कुशलतापूर्वक ट्रेकिंग भी कर सकते हैं. प्रशिक्षण के दौरान जर्मन शेफर्ड और लेब्राडोर की कॉलर में कैमरे लगाए गए हैं, जिनमें लाइव रिकार्डिंग भी होती है. इसका वायरलेस सम्पर्क बीएसएफ के आइटी सेंटर में है.

श्वानों के कॉलर पर कैमरे को इस तरह लगाया है कि वो सभी कोण से फुटेज ले सकें. श्वानों को सिखाया जा रहा है कि गश्त के समय कैमरे का एंगल बॉर्डर के दोनों तरफ और जमीन-आसमान पर करना है. बीएसएफ ने 2004 से बॉर्डर पर खोजी कुत्ते तैनात करने शुरू किए थे. राजस्थान में श्रीगंगानगर, बीकानेर, बाड़मेर और जैसलमेर जिलों की कई सीमा चौकियों पर तैनात खोजी श्वान अधिकतर ट्रेकिंग करते हैं. कैमरे लगे श्वान इन चारों जिलों में तैनात किए जाएंगे. कैमरा उपकरणों के चयन के बाद, बीएसएफ सीमावर्ती क्षेत्रों में ‘गोपनीय परीक्षण’ शुरू करेगी.

#rajasthan #jaisalmer #BSF

Related posts

9 साल के बच्चे को आवारा कुत्ते ने नोंचा, मौत

Ramta

इन प्रदेशों के प्रसिद्ध व्यंजनों की होगी जांच

Ramta

जब कोर्ट में घुसी बंदरों की सेना

Ramta

छिलते वक्त पेंसिल दूसरे छात्र की आंख में घुसी, बच्चे पर एफआईआर दर्ज

Ramta

फेमस हुई किसान की बेटी ऋचा तोमर, चुनी गई सर्वश्रेष्ठ आईपीएस लेडी

Ramta

ऑपरेशन कर महिला के पेट में छोड़े गॉज और कॉटन के टुकड़े

Ramta

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More