Local Heading

8 साल डेटिंग के बाद जैसलमेर में विदेशी लवबर्ड्स ने लिए सात फेरे

जैसलमेर: सात समंदर पार से रेत के समंदर पहुंचे दो विदेशी प्रेमी जोड़े को राजस्थानी की आबो-हवा इतनी पसंद आई कि दोनों ने हमेशा-हमेशा के लिए एक-दूसरे के होने का फैसला कर लिया. जी हां. दोनों लवबर्ड्स जैसलमेर में शादी के बंधन में बंध गए. बताया जाता है कि दोनों लवबर्ड्स पिछले 8 वर्षों से डेटिंग कर रहे थे, लेकिन राजस्थान से लौटते वक्त दोनों पति-पत्नी बनकर अपने घर लौटा.

जानकारी के अनुसार लवबर्ड्स बार्सिलोना स्पेन निवासी इवान और क्लाउडिया के बीच पिछले 8 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था. जून 2019 में दोनों भारत भ्रमण पर आए. इवान पेशे से बॉक्सर और क्लाउडिया फैशन डिजाइनर है. भारत भ्रमण के दौरान जोड़ा स्वर्णनगरी जैसलमेर पहुंचा तो यहां की संस्कृति इन्हें खासी रास आई तो इन्होंने तय किया कि हो न हो, उन्हें शादी जैसलमेरी स्टाइल में करनी है.

फिर क्या था दोनों ने स्थानीय ब्लैक पेपर टूर्स के मालिक अकरम ख़ान से हिन्दू रीति रिवाज से शादी करने की इच्छा जाहिर की. उन्होंने युगल के लिए वैवाहिक कार्यक्रम का आयोजन किया. जैसलमेर के पुष्करणा बेरा में दोनों की हिन्दू रीति रिवाज से शादी हुई. भारतीय परम्परा के अनुसार शादी के बंधे इवान और क्लाउडिया की खुशी देखते ही बन रही थी.

शादी के बंधन में बंधने के बाद इवान और क्लाउडिया ने जैसलमेर के लोगों का अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए शुक्रिया अदा किया. शादी में क्लाउडिया ने राजस्थानी दुल्हन की वेशभूषा पहन रखी थी. वहीं, इवान को पगड़ी और धोती कुर्ता पसंद आया. स्थानीय पंडित भाउसा महाराज ने चार फेरे और सात वचन दिलाकर शादी के बंधन में बांधा. इस मौके पर स्पेनिश गाइड प्रदीप सिंह महेचा, इमरान खान, वाजिद अली और शिवकुमार भी मौजूद रहे.

#rajasthan #lovebirds

Related posts

भारतीय नागरिकता मिलने पर जैसलमेर में वर्षों से रह रहे पाक विस्थापितों के चेहरे खिले

Shankardan Detha

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसः जागरुकता रैली को हरी झण्डी दिखाकर किया गया रवाना

Shankardan Detha

मिसालः आंखों से नहीं, याददाश्त की नजर से दुनिया को देखते हैं सांवल सिंह

Shankardan Detha

पश्चिम बंगाल का असर: जैसलमेर में ठप्प रही स्वास्थ्य सेवाएं

Ramta

कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के नए अध्यक्ष

Asif Khan

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर बजरंग दल पहुंची थाने

Shankardan Detha

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More