Local Heading

खनन माफिया भर रहे तिजौरी…विभाग ने मूंद रखी हैं आंखें

भरतपुर । राजस्थान के भरतपुर में मेवात व रूपवास, बयाना क्षेत्र में अवैध खनन लम्बे समय से चल रहा है, जिसके चलते पहाड़ियां ख़त्म होने के कगार पर हैं। लेकिन खनन और वन विभाग इस दिशा में कुछ नहीं कर रहा है। लिहाजा इन विभागों के अधिकारीयों पर अवैध खनन को बढ़ावा देने और अच्छी खासी रकम बसूलने के आरोप भी लगते रहे है |
मामला मेवात क्षेत्र में पहाड़ी थाना क्षेत्र में स्थित नागल क्रेसर जोन का है, जहां खनन विभाग का खसरा नंबर 162 है जिस पर सीमित मात्रा में खनन करने के लिए खनन विभाग द्वारा वर्ष 2010 में कामा थाना क्षेत्र के गांव लुहेसर निवासी जैकम खान को लीज आवंटित की थी, लेकिन उसका पट्टा नहीं होने से यह लीज निरस्त हो गई। इसके बाबजूद यहां स्थानीय बदमाशों द्वारा विगत 9 वर्षों से अवैध खनन किया जा रहा है, जिससे ये लोग करोड़ों रूपये हर महीने कमा कर रहे है | सूत्रों के अनुसार इस अवैध खनन में कुछ राजनेताओं की भी भागीदारी है, जिससे उनको भी अच्छी खासी कमाई मिलती है | इस अवैध खनन में अपनी अपनी भागीदारी व आधिपत्य स्थापित करने की लड़ाई में एक मर्डर भी वर्ष 2015 में हो चुका है |
गांव धौलेट निवासी आसु खान, गांव धीमरी निवासी जाहिद खान और पहाड़ी निवासी ताहिर कुरैशी नामक बदमाश एक लम्बे समय से यहां अवैध खनन कर कमाई कर रहे हैं।

Related posts

भारतीय नागरिकता मिलने पर जैसलमेर में वर्षों से रह रहे पाक विस्थापितों के चेहरे खिले

Shankardan Detha

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसः जागरुकता रैली को हरी झण्डी दिखाकर किया गया रवाना

Shankardan Detha

कस्बे में मिली महिला की सिर कटी लाश

Pragati Raj

मिसालः आंखों से नहीं, याददाश्त की नजर से दुनिया को देखते हैं सांवल सिंह

Shankardan Detha

पश्चिम बंगाल का असर: जैसलमेर में ठप्प रही स्वास्थ्य सेवाएं

Ramta

हथियारो के जखीरे के साथ पकड़ा गया हथियारो का सप्लायर

Saleem Malik

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More