Local Heading

एक ऐसा लड़का जो अपने लिए नहीं दूसरों के लिए जीता है…

अब आप सोच रहे होंगे कि जहां आजकल के नवयुवक प्रतिस्पर्धा की दौड़ में लगे हैं और एक दूसरे से आगे निकलना चाहते हैं तो वहीं पर कौन से नवयुवक हैं जो आने वाले कल को सुधारने में लगे हैं और ऐसी कौन सी मुहिम चला रहे हैं जो आने वाले कल में समाज के लिए बेहद हितकारी होगी.

कानपुर: आज के समय जहां नवयुवको में एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ मची है, तो वहीं कुछ ऐसे नवयुवक हैं जो अपने बारे में तो सोचते ही हैं. लेकिन समाज के पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए एक ऐसी मुहिम छेड़ी है. जो दिन प्रतिदिन बढ़ती ही चली जा रही है और ऐसी मुहिम जिससे आने वाले समय में नवयुवकों को फायदा तो मिलेगा ही मिलेगा लेकिन उनके साथ पूरे समाज को भी इसका फायदा मिलेगा.

क्या है मुहिम

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) में कल्याणपुर में जन्मे नवयुवक राहुल कुमार की सोच दूसरे नवयुवकों से बेहद अलग व जुदा है. जहां आजकल के नवयुवक प्रतिस्पर्धा की दौड़ में एक दूसरे को पिछड़ने में लगे हैं. तो वही राहुल अपने कुछ साथियों के साथ पर्यावरण को सुधारने में लगे हैं. इस बारे में जब हमने नवयुवक राहुल से मुलाकात कर उनके इस मिशन के बारे में जानना चाहा तो उन्होंने बड़े ही निडरता पूर्वक जवाब दिया कि अगर हमारा समाज स्वस्थ होगा, स्वच्छ होगा तो मैं भी अन्य नवयुवको की तरीके प्रतिस्पर्धा की दौड़ में सबसे आगे निकल जाऊंगा. बस फर्क इतना होगा की प्रतिस्पर्धा की दौड़ में वह अपने लिए दौड़ रहे होंगे और मैं पर्यावरण को स्वच्छ करने के लिए दौड़ रहा हूंगा.

वह कहते हैं कि हर व्यक्ति की अपनी अपनी कुछ मजबूरियां होती हैं. ऐसा नहीं है कि मेरी कोई मजबूरी नहीं है या मैं बहुत ही धनाढ्य परिवार से संबंध रखता हूं. मैं एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मा हूं लेकिन मेरी सोच अगर अपने परिवार को लेकर भी हैं तो आसपास के समाज की चिंता भी मुझे है जिसको लेकर मैं अपने कुछ साथियों के साथ ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने का प्रयास कर रहा हूं. हमारे पास भले ही सीमित संसाधन है, हमारे पास ज्यादा पैसे नहीं है.

पौधरोपण करते राहुल व उनके साथी

हम जो कमाते हैं उसमें से कुछ हिस्सा समाज में फैले प्रदूषण को कम करने के लिए लगाते हैं और उन पैसों से पेड़ को खरीदकर ज्यादा से ज्यादा जगहों पर लगाने का प्रयास कर रहे हैं. अभी हमारे साथियों को इस मुहिम से जुड़े लगभग 1 साल हो चुके हैं, और हमने 1 साल में लगभग 100 के आसपास पेड़ लगाए हैं. थोड़ी सी हमारी भी मजबूरियां है, जिसके चलते हर सप्ताह के रविवार को हम लोग 3 से 4 पेड़ के पौधे लेकर निकलते हैं, और साफ सुथरी जगह देखकर वहां पर पौधे लगाते हैं और जहां पर लगाते हैं.

उसके आसपास रहने वाले लोगों से बड़े ही विनम्रता से निवेदन करते हैं कि आप सभी लोग अगर दो दो गिलास पानी इस पौधे को रोज देते रहेंगे तो हमारा आने वाला कल बेहद सुखमय होगा और आप विश्वास नहीं करेंगे. हमारी इस मुहिम में हमें कल्याणपुर के क्षेत्रवासियों का भी बहुत सहयोग मिल रहा है हमने जहां जहां पर पौधे लगाए हैं. उनको पानी देने का काम हम सब मित्र तो करते ही हैं लेकिन वहां पर रहने वाले लोग भी हमारी इस मुहिम का एक हिस्सा बन चुके हैं और वह लगातार पौधों को पानी देते रहते हैं जिससे आज 1 साल होने जा रहा है और बहुत सारे ऐसे पौधे हैं जो अच्छे खासे बड़े हो गए हैं.

राहुल ने बताया कि इस मुहिम को और आगे बढ़ाने के लिए हम लोग जिला प्रशासन को एक पत्र देकर कुछ संसाधनों का सहयोग मांगेंगे और अगर सहयोग मिला तो जिला प्रशासन की सहायता से हम अभी कल्याणपुर क्षेत्र में इस मुहिम को चला रहे हैं लेकिन आने वाले समय में इसे पूरे कानपुर नगर में चलाएंगे।

रिपोर्ट- अवनीश कुमार

Related posts

मोटर ड्राइविंग स्कूल से हादसों में आएगी कमी

Avnish Singh

प्रतियोगी परीक्षाएं पास करने के लिए सबसे पहले करें ये काम!

Deepanshi

बर्थडे स्पेशल: सोना चुराकर घर से भागे थे पीएम मोदी!

Deepanshi

इस रोमांटिक गढ़वाली गीत को सुने बिना नहीं रह पाएंगे आप

Harish Singh

चोरी का ये तरीका सुनकर सिर पकड़ लेंगे आप!

Deepanshi

वायरल: बैग में मिली 5 महीने की बच्ची, बिग बॉस में शेफ बने सलमान

Ramta

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More