Local Heading

गोरखपुर: हत्यारों की गिरफ्तारी न होने से भड़के ग्रामीण,पुलिस पर किया पथराव

गोरखपुर के झंगहा थाना क्षेत्र में रविवार को हुई दो चचेरे भाइयों की हत्या के 72 घंटे बाद भी हत्‍यारोपियों गिरफ्तारी नहीं हो पाने के खिलाफ लोगों का गुस्‍सा भड़क गया.

गोरखपुर(Gorakhpur): गोरखपुर के झंगहा थाना क्षेत्र में रविवार को हुई दो चचेरे भाइयों की हत्या के 72 घंटे बाद भी हत्‍यारोपियों गिरफ़्तारी न हो पाने के खिलाफ लोगों का गुस्‍सा भड़क गय. पुलिस पर हत्‍यारोपियों से सांठगांठ के गम्‍भीर आरोप लगाते हुए लोग सड़क पर उतर आए. उन्‍होंने सड़क जाम कर दिया. पुलिस समझाने पहुंची तो गुस्‍सा और भड़क गया. पथराव और भगदड़ में आधा दर्जन पुलिसकर्मियों सहित कम से कम एक दर्जन लोग चोटिल हो गए. सीओ चौरी चौरा के भी पैर में चोट आई है.

इसे भी पढ़े: मथुरा: टिड्डी दल के आक्रमण को लेकर कृषि विभाग अलर्ट

रोडवेज की दो बसें, पुलिस की दो गाडि़यां और कई निजी वाहन क्षतिग्रस्‍त कर दिए गए. इस दौरान दोपहर ढाई बजे से शाम पांच बजे तक गोरखपुर-देवरिया राष्‍ट्रीय राजमार्ग झंगहा में जाम रहा. प्रदर्शन के दौरान कोरोना से बचाव के लिए की जाने वाली सोशल डिस्‍टेंसिंग तार-तार हो गई. हालांकि कई ग्रामीण मुंह पर मास्‍क लगाए थे. उनके हाथों में लाठियां थी. वह पुलिस के खिलाफ लगातार नारेबाजी कर रहे थे. शाम करीब साढ़े चार बजे ग्रामीण पुलिस टीम के खिलाफ अचानक से उग्र हो गए. उन्‍होंने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. उस समय पर्याप्त फ़ोर्स नही होने के कारण पुलिस को पीछे हटना पड़ा. इसके बाद शहर से कैंट, झंगहा, चौरीचौरा और अन्य थानों की फ़ोर्स मौके पर पहुंची. पुलिस ने हल्‍का बल प्रयोग करते हुए प्रदर्शनकारियों को सड़क से खदेड़ दिया. शाम 5 बजे जाम खत्‍म हो गया.

आक्रोशित लोगों ने खोराबार और झंगहा थाने की पुलिस पर मामले में गंभीर आरोप लगाए है. लोगों ने कहा कि पुलिस, मामले को दबाने और हत्‍यारोपियों को बचाने में लगी है. हत्‍यारोपियों से उसकी सांठगांठ है. हालांकि पुलिस ने इन आरोपों का खंडन किया है. एसएसपी डा.सुनील गुप्‍ता ने कहा है कि पुलिस लगातार दबिश दे रही है. जल्‍द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा. हत्‍यारों को उनके किए की कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी. एसपी नार्थ अरविंद कुमार पांडेय, एसपी सिटी डॉक्टर कौस्तुभ, क्षेत्राधिकारी रचना मिश्रा, सीओ कैंट सुमित शुक्ला, कैंट, खोराबार, चौरीचौरा सहित चार थानों की पुलिस मौजूद रही. पथराव में सीओ रचना मिश्रा के पैर में चोट आई है.

आपको बता दे कि दिवाकर और कृष्‍णा नाम के चचेरे भाइयों की हत्‍या रविवार को गोर्रा नदी के किनारे हुई थी. पुलिस ने इस मामले में मुकेश नाम के एक शख्‍स को हिरासत में लेकर पूछताछ की है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक दोनों भाइयों को वहां बहाने से बुलाया गया था. हत्‍याकांड से पहले वहां शराब की पार्टी चली. मुकेश ने पुलिस को बताया कि चार-पांच की संख्‍या में अचानक सामने आए बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. दिवाकर और कृष्‍णों को मौत के घाट उतार दिया. मुकेश ने किसी तरह मौके से भागकर अपनी जान बचाई. पुलिस मुकेश और अन्‍य लोगों से पूछताछ़ के आधार पर अपनी कार्रवाई कर रही है.

रिपोर्ट–रविन्द्र चौधरी (गोरखपुर)

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More