Local Heading

कानपुर देहात: मुम्बई से चंदौली जा रही महिला ने सड़क पर दिया बच्ची को जन्म

कानपुर देहात में एक गर्भवती महिला पति संग मुंबई से चंदौली जा रही है. महिला को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी और ट्रक चालक ने महिला समेत पूरे परिवार को कानपुर देहात अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के जैनपुर चौराहे पर उतार दिया.

कानपुर(Kanpur): गैर राज्यों से लगातार अपने वतन वापसी को लेकर प्रवासी मजदूरों का पलायन तो जारी है और इसी पलायन के दरमियान कानपुर देहात में एक बड़ी घटना घटी पति संग मुंबई से चंदौली जा रही है. महिला को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी और ट्रक चालक ने महिला समेत पूरे परिवार को कानपुर देहात अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के जैनपुर चौराहे पर उतार दिया. महिला प्रसव पीड़ा से जूझ रही थी कि उसी समय पास के ही गौरी अस्पताल की टीम सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची और जब तक अस्पताल की टीम पहुंच पाती तब तक महिला ने एक बच्ची को जन्म दे दिया.

इसे भी पढ़े: अजमेर: लॉकडाउन की वजह से घरेलू हिंसा के मामले हुई बढ़ोतरी

लॉक डाउन के बीच मुम्बई में अपना रोजगार गवा कर घर वापसी कर रहे परिवार की गर्भवती महिला का बीच सड़क पर प्रसव हो गया. गनीमत रही कि कुछ दूरी पर गौरी हॉस्पिटल था. अस्पताल प्रबंधन और स्टॉप की मदद से नवजात बच्ची और प्रसूता को सही उपचार मिल गया. फिलहाल दोनो स्वास्थ्य है.

अजीबो गरीब परिस्थितियों का सामना करने वाले चंदौली जिले के पपौरा गांव निवासी पिंटू मुम्बई में इडली बेच कर घर चला रहे थे. पिंटू ने बताया साधन न मिलने पर गर्भवती पत्नी और दो वर्ष के मासूम बच्चे को अपने साथ ले ट्रक से ही अपना सफर शुरू कर दिया. घर वापसी मुकम्मल होने से पहले जब ट्रक अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के जैनपुर से गुजर रहा था. तभी गर्भवती महिला की पीड़ा बढ़ने लगी ट्रक चालक ने परिवार को वहीं चौराहे पर उतार दिया. जब तक पिंटू अपनी पत्नी को अस्पताल ले जाने का जतन कर पाते तब तक महिला ने सड़क पर ही एक बच्ची को जन्म दे दिया. उसी समय ये सूचना गौरी हॉस्पिटल संचालक डॉक्टर संजय त्रिपाठी को मिली. उन्होंने तुरंत एक एम्बुलेंस में अपनी टीम को भेजा और महिला का उपचार शुरू किया. हालांकि महिला और नवजात बच्ची पूरी तरह स्वस्थ्य है. साथ ही माती पुलिस आफिस में तैनात दो पुलिस कर्मियों ने इस परिवार की आर्थिक मदद भी की है. अब जिला प्रशासन इस परिवार को जल्द ही उसके गांव पपौरा भिजवाने को प्रयासरत है.

वहीं जब इस पूरे मामले पर हमने अस्पताल संचालक डॉक्टर संजय त्रिपाठी से बात की तो उन्होंने बताया जैसे ही हमे एक महिला के प्रसव पीड़ा की सूचना मिली. तो हमारी टीम वहां पहुंची और परिवार समेत महिला को अस्पताल ले आई हमने और हमारी टीम ने महिला का पूरा उपचार किया गया. दोनों स्वस्थ्य है. उनके खाने पीने की व्यवस्था अस्पताल से ही कि जा रही है. जिला प्रशासन से परिवार को घर पहुंचाने की बात हुई है. जल्द ही उनको गांव तक पहुंचाया जाएंगा.

रिपोर्टर- दिवाकर श्रीवास्तव (कानपुर)

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More