Local Heading

शामली: घंटों तड़पती रही प्रसव पीड़िता महिला, परिजानों ने किया जमकर हंगामा

शामली के कांधला कस्बे की सरकारी अस्पताल पर डिलीवरी के दौरान महिला के परिजनों ने जमकर हंगामा किया.

शामली(Shamli): जनपद शामली के कांधला कस्बे की सरकारी अस्पताल पर डिलीवरी के दौरान महिला के परिजनों ने जमकर हंगामा किया. महिला के परिजनों का आरोप है कि डिलीवरी के दौरान नर्स स्टाफ महिला ने पीड़ित महिला को अस्पताल में भर्ती नहीं किया. जिसके चलते महिला घंटों अस्पताल के बाहर तड़पती रही. पीड़ित महिला के परिजनों ने नर्स स्टाफ महिला पर अतिरिक्त रुपए लेने का भी आरोप लगाया है. हंगामा बढ़ते देख नर्स स्टाफ महिला ने आनन-फानन में पीड़ित महिला को मुजफ्फरनगर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया महिला ने एंबुलेंस में ही नवजात को जन्म दे दिया. इसमें नवजात की मौत हो गई. नर्स स्टाफ महिला ने सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है. सीएमओ ने जांच के आदेश दे दिए.

इसे भी पढ़े:गोरखपुर: हत्यारों की गिरफ्तारी न होने से भड़के ग्रामीण,पुलिस पर किया पथराव

दरअसल पूरा मामला जनपद शामली के कांधला कस्बे की सरकारी अस्पताल का है कस्बे के मोहल्ला खेल निवासी एक व्यक्ति ने अपनी पुत्री को प्रसव पीड़ा के दौरान कांधला कस्बे के सरकारी अस्पताल में डिलीवरी के लिए भर्ती कराया था. आरोप है कि सभी  नर्स स्टाफ महिला ने पीड़ित महिला की जांच कर अस्पताल में भर्ती करने से मना कर दिया. और ऊपर से पीड़ित परिजनों से 300 अतिरिक्त दवाई के नाम पर भी ऐठ लिए जिसके बाद महिला अस्पताल के बाहर आंगन में रेहडी में पड़ी घंटों तड़पती रही. पीड़ित महिला के परिजनों का आरोप था कि कस्बे से एक और महिला प्रसव पीड़ा के दौरान आई थी.

वह तो महिला नर्स ने भर्ती कर ली और उनसे यह कहकर मना कर दिया कि आप की डिलीवरी यह नहीं हो सकती. इसे मुजफ्फरनगर ले जाना पड़ेगा. जिसके बाद पीड़ित परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया. हंगामा बढ़ते देख महिला नर्स स्टाफ ने आनन-फानन में पीड़ित महिला को मुजफ्फरनगर अस्पताल के लिए रेफर किया है. मुजफ्फरनगर अस्पताल ले जाते समय बीच रास्ते में ही महिला ने एंबुलेंस में ही नवजात को जन्म दे दिया. एंबुलेंस में नवजात की मौत हो गई. महिला के परिजनों ने जमकर हॉस्पताल में हंगामा काटा. जब इस बारे में नर्स स्टाफ महिला से बात की गई. तो उनका कहना है कि मेरे ऊपर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं महिला को प्रसव पीड़ा के दौरान ज्यादा परेशानी थी. इसलिए अस्पताल में सुविधा ना होने के कारण पीड़ित महिला को मुजफ्फरनगर अस्पताल के लिए रेफर किया गया है और हमने उनसे कोई भी अतिरिक्त रूपए नहीं लिया है.

रिपोर्टर- रवि जागलान (शामली)

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More