Local Heading

कोनिया की प्रसिद्ध नक्कटैया शोभायात्रा में उमड़ा जनसैलाब

varanasi

वाराणसी(Varanasi): श्री नवयुवक बाल सभा रामलीला कोनिया राजघाट का सुप्रसिद्ध नक्कटैया की लीला देखने बुधवार रात को लोगों कि भींड़ उमड़ पड़ी. लीला में निकले लाग विमान,स्वागं, काली दुर्गा के स्वरूप तलवार भाजते करतब देखने के लिए मेला क्षेत्र में जन सैलाब उमड़ पड़ा. मेला क्षेत्र में रंग-बिरंगे विद्युत लाइटों और जगह-जगह ध्वनि विस्तारक यंत्रों से गगनभेदी भक्ति गीतों से देर रात्रि तक चहल-पहल रही.

वहीं इन रास्तों में पड़ने वाले मंदिरों को भी सजा कर विशेष पूजा – अर्चना की गई. कोनिया के शीतला मंदिर के पास मंगलवार को सूपर्णखा कि नाक काटने की लीला हुई. लक्ष्मण जी द्वारा नाक काटने से क्षुब्ध होकर सूपर्णखा अपने भाई खरदूषण से शिकायत करने के लिए मंगलवार को लीला स्थल पहुंची. रात्रि में लगभग दस बजे खरदूषण अपनी सेना लेकर लक्ष्मण से अपनी बहन का प्रतिशोध लेने के लिए रवाना हुआ. इनकी सेना में घोड़ा ,ऊंट लगभग पैंतालीस लाग विमान, स्वांग शामिल रहे. इस दौरान काली और दुर्गा के स्वरूप तलवार भाजते अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए चल रहे थे.

रामलीला के स्थापना के 50 वर्ष पूरे होने पर संस्थापक प्रेमचंद कुशवाहा और मोतीलाल शहर दक्षिणी विधायक प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव, पार्षद शिव प्रकाश मौर्य अध्यक्ष रामाशंकर सिंह, महामंत्री दिलीप कुशवाहा ऋतुराज सिंह, शिव कुमार, अग्रहरि जमुना प्रसाद मौर्य और बेचन लाल मौर्य ने नक्कटैया जुलूस का उद्घाटन काशी रेलवे स्टेशन से नारियल तोड़कर और फीता काटकर किया. इस मौके पर मेला क्षेत्र श्रद्धालुओं की भीड़ से भरा रहा. सड़कों के किनारे स्थित भवनों के बरामदे पर भी लोग लाग विमान और स्वांग को देखने के लिए जमा थे. मेला क्षेत्र में रेवड़ी, चूड़ा, पकौड़ी, चाट, घरेलू तथा श्रृंगार प्रसाधन की वस्तुओं की अस्थाई दुकानें सड़कों के किनारे लगी रही. मेला क्षेत्र में सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुलिस एवं पीएसी के जवानों की तैनाती की गई थी.

उधर नक्कटैया जुलूस उद्घाटन होने के बाद गाजे-बाजे के साथ काशी स्टेशन से राजघाट की ओर बढ़ा जुलूस के आगे ऊंट, घोड़ा, बैंडबाजा, शहनाई सूपर्णखा के स्वरूप चल रहे थे. इसके पीछे लगभग पैंतालीस लाग विमान,स्वागं और अंत में रथ पर सवार होकर खरदूषण अपनी सेना के साथ चल रहा था. जुलूस में शिव पार्वती सहित देश की ज्वलंत समस्या भ्रष्टाचार ,महिला उत्पीड़न बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ ,स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत , चंद्रयान दो, श्री कृष्ण की रासलीला पर आधारित  स्वांग को लोग देखने को आतुर रहे. नक्कटैया जुलूस काशी स्टेशन से नया महादेव, भैसासुर घाट होते हुए जीटी रोड पंचायतीया कुआं, सहदेव राम मुखिया मार्ग कोनिया सट्टी, गेदा फैक्ट्री, कोनियाया गांव, कोनिया धोबीघाट होते हुए कज्जाकपुरा चौराहा पुलिस चौकी स्थित लीला स्थल पर पहुंचकर समाप्त हुआ. जहां भोर में खरदूषण वध और सीता हरण की लीला संपन्न हुई.

इस दौरान श्री नवयुवक बालसभा रामलीला ट्रस्ट कोनिया के अध्यक्ष रामाशंकर सिंह कुशवाहा, महामंत्री दिलीप कुशवाहा , कोषाध्यक्ष प्यारेलाल मौर्य, सुभाष चंद्र मौर्य, पार्षद शिव प्रकाश मौर्य, रुस्तम और बबलू सेठ विष्णु यादव भरत कुशवाहा अनिल गुप्ता अशोक सिंह पांडे रवि कांत रवि जायसवाल आदि लोग मेला क्षेत्र में व्यवस्था बनाए रखने के लिए बार-बार चक्रमण करते रहे.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More