Local Heading

वाराणसीः आग के हवाले कर दी गईं जीवन रक्षक दवाएं, कैसे बचेंगी जानें

वाराणसी(Varanasi): जिले के राजकीय अस्पतालों में गरीब रोगी अपने ठीक होने की आस लेकर आते हैं. लेकिन यहां का नजारा कुछ और ही बयां कर रहा है. एक तरफ कई इलाके के मेडिकल कॉलेज तक में जीवन रक्षक दवाएं नहीं हैं. इस वजह से चिकित्सक मजबूरी में बाहर की दवा लिखते हैं और गरीब अपने बच्चों का मंहगे दामों पर इलाज कराने को विवश हैं. यहां मरीजों को दी जाने वाली जीवन रक्षक दवाओं को रोगियों को बांटने की बजाय जंगल में आग के हवाले कर दिया गया. शहर भर में इसका वीडियो वायरल हो रहा है.

घटना चुर्क पुलिस चौकी क्षेत्र का है. इस वीडियो के वायरल होते ही चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया. मंगलवार की सुबह कुछ व्हाटसएप ग्रुप में दवाओं को जलाए जाने का वीडियो वायरल हुआ. थोड़ी देर बाद पता चला कि यह वीडियो चुर्क पुलिस चौकी क्षेत्र के जंगल का है. तत्काल लोगों ने इसकी जानकारी सीएमओ समेत अन्य अधिकारियों को को दी. प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए सीएमओ ने मामले की जांच शुरू करा दी है.

ये भी पढ़ें:गरीबी ने बेबस मां के सामने लेली 2 साल के बच्चे की जान

खबर के मुताबिक सोमवार की रात में कुछ स्वास्थ्य कर्मी दवाओं को लेकर जंगल में पहुंचे और आग लगा दी, इसके बाद वहां से चलते बने. मौके पर कुछ दवाएं जलने से बच गई थी, जिसमें कुछ एक्सपायरी और कुछ दवाएं वितरित करने योग्य थी. एक तरफ दवाओं की कमी अक्सर सुनने को मिलती रहती है. कई बार सामान्य दवाएं भी सरकारी अस्पतालों में नहीं मिलती है. मजबूरी में लोगों को महंगे दाम पर बाहर से दवाएं खरीदनी पड़ती है. प्रशासन ने जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More